पुलिस आधुनिकीकरण

समाजवादी पार्टी की सरकार ने उत्तर प्रदेश में अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण लगाने के लिए उल्लेखनीय कार्य किए हैं। अपराध के बदलते तौर तरीकों को पहचानते हुए एक ओर जहां पुलिस को मॉडर्न कण्ट्रोल रूम ,यूपी 100 और ट्विटर सेवा जैसी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किया गया है, वहीं प्रदेश के हर थानों की पुलिस की गतिशीलता को बढ़ाने के लिए भी काम किया गया है।

  • अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए कानपुर, लखनऊ, गाजियाबाद और इलाहाबाद में अत्याधुनिक तकनीक युक्त पुलिस नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं।
  • लखनऊ में स्मार्ट सिटी सर्विलांस परियोजना का सफल संचालन हो रहा है।
  • स्मार्ट सिटी सर्विलांस परियोजना की सफलता के बाद इसका विस्तार कर कानपुर, आगरा, वाराणसी, इलाहाबाद, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मेरठ, बरेली, मुरादाबाद, अलीगढ़ और गोरखपुर में भी इसका संचालन किया जा रहा है।
  • 1411 नए चार पहिया वाहन और 416 मोटर साइकिल पुलिस फोर्स की गतिशीलता बढ़ाने के लिए।
  • 8 एकड़ में लखनऊ में यूपी 100 का अत्याधुनिक मास्टर को-ऑर्डिनेशन सेंटर स्थापित।
  • यूपी 100 का मकसद प्रदेश में कहीं भी किसी भी समय सभी व्यक्तियों की सुरक्षा के लिए त्वरित एकीकृत आपातकालीन सेवाएं प्रदान करना है।
  • 4800 वाहन यूपी 100 के कंट्रोल रूम से जीपीआरएस के माध्यम से जुड़े।
  • यूपी 100 देश का ही नहीं, बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा और आधुनिक नेटवर्क है।
  • इस योजना के तहत पीड़ित व्यक्तियों से प्रतिक्रिया प्राप्त करने की भी व्यवस्था होगी और उनके संतुष्ट होने के बाद ही केस बंद किया जाएगा।