लखनऊ मेट्रो

शहरों में आबादी बढ़ने के साथ ही यातायात की समस्याएं भी बढ़ी हैं। समाजवादी सरकार ने आम जनता को इससे निजात दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश के कई शहरों में मेट्रो परियोजना का शुभारंभ किया है। लखनऊ में मेट्रो परियोजना अपने अंतिम चरण में है। 2016 के अंत तक लखनऊ में मेट्रो दौड़ने की पूरी संभावना है।

  • लखनऊ में मेट्रो परियोजना के प्रथम चरण में नार्थ-साउथ कॉरिडोर यानी चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक के मार्ग का कार्य तेजी से हो रहा है।
  • 23 किलोमीटर लम्बा है लखनऊ मेट्रो का नार्थ-साउथ कॉरिडोर।
  • 22 स्टेशन होंगे लखनऊ मेट्रो के नार्थ-साउथ कॉरिडोर पर।
  • 6880 करोड़ रुपये लागत है नार्थ-साउथ कॉरिडोर की।
  • लखनऊ के साथ-साथ नोएडा, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में भी मेट्रो का निर्माण कार्य किया जा रहा है।
  • नोएडा में कालिंदी कुंज से बॉटेनिकल गार्डेन, नोएडा सिटी सेंटर से सेक्टर 62 और नोएडा से ग्रेटर नोएडा तक कुल 40.344 किलोमीटर लंबाई में मेट्रो का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।