किसान बाज़ार/अवध शिल्प ग्राम

समाजवादी सरकार ने हमेशा से अपनी नीतियों में किसानों, बुनकरों, हस्तशिल्पियों तथा उद्यमियों को सहूलियत दी है। किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाने के मकसद से समाजवादी सरकार ने प्रदेश के विभिन्न इलाकों में किसान बाजार की स्थापना की है। तो वहीं अवध शिल्पग्राम एक ऐसा अत्याधुनिक क्षेत्र है। जहां शिल्पकार अपने हस्तनिर्मित व्यवसाय से एक ही स्थल पर सीधे जुड़ेंगे।

  • अवध शिल्पग्राम विश्वस्तरीय बनाया गया है। इसमें शिल्पकारों के लिए लगभग 200 दुकानें बनाई गयीं हैं।
  • दिल्ली हाट की तर्ज पर बनाया गया अवध शिल्प ग्राम लगभग 20 एकड़ क्षेत्र में विस्तारित है, जो कि दिल्ली हाट के मुकाबले काफी बड़ा है।
  • यहाँ 50 वातानुकूलित दुकानों के अलावा विभिन्न प्रदेशों के लिए भी स्टाल बनाये गये हैं।
  • इसके साथ ही आडिटोरियम, एम्पीथियेटर, फूडकोर्ट, प्रदर्शनी हाल, कैफिटेरिया एवं अन्य मनोरंजन की सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई हैं।
  • यहां पार्किंग की समुचित व्यवस्था के साथ-साथ सोलर लाइट का अधिकतम उपयोग किया जाएगा।
  • पूरे क्षेत्र को हरा-भरा बनाने के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था की गई है।
  • अवध शिल्पग्राम के बनने से किसान, स्थानीय उत्पादक, दस्तकार व उद्यमी अपने उत्पादों को प्रदर्शित कर उनकी बिक्री कर सकेंगे।