मुफ्त सिंचाई

समाजवादी सरकार ने किसानों के परिपेक्ष में सिंचाई के महत्व को बखूबी पहचाना और सिंचाई का ऐसा प्रबंधन किया है, जिससे अधिक से अधिक किसानों को सिंचाई का पानी उपलब्ध कराया जा सके। पूरे प्रदेश में सभी नहरों, माइनरों एवं रजवाहों की सिल्ट सफाई कराके पानी को टेल तक एवं टेल से खेत तक पहुंचाया गया है। इसके साथ ही किसानों को मुफ्त सिंचाई उपलब्ध करवाकर उनके लिए खेती करना आसान बना रही है। साथ ही साथ आबपाशी शुल्क माफ कर किसानों को जीविकोपार्जन के लिए अतिरिक्त बचत की सहूलियत दी जा रही है।

  • 700 करोड़ रुपये का आबपाशी (सिंचाई) शुल्क माफ किया गया है
  • किसानों के लिए ऐसे स्थान पर सिंचाई का पानी पहुँचाया गया जहां पिछले 30 वर्षों में पानी नहीं पहुंचा था।
  • बुंदेलखंड में 7300 किमी. नहरें बनाई गईं
  • बुंदेलखंड में नहरों द्वारा 6.52 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में तथा राजकीय नलकूपों/टैंकों/बोरवेल के माध्यम से 4.61 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा सुलभ कराई गई है।
  • 4,64,385 निःशुल्क बोरिंग/उथले नलकूप का निर्माण कराया। 5908 गहरी व 24709 मध्यम गहरी बोरिंग का निर्माण कराया गय। 1543 चेकडैम, 5715 सामुदायिक ब्लास्ट कूप बनाए गए। 863 सामुदायिक नलकूपों की स्थापना कराई गई।
  • 12 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त सिंचाई हुई