आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे समाजवादी पार्टी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है। यह देश का सबसे बड़ा ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे है। इस एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण के साथ न सिर्फ आगरा और लखनऊ में विकास तेज होगा, बल्कि एक्सप्रेस-वे से जुड़ने वाले सभी जिलों में तरक्की की रफ्तार तेज होगी। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के निर्माण से एक क्षेत्र में हुए विकास का असर दूसरे क्षेत्र तक पहुंचेगा। इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। इसके साथ ही समाजवादी सरकार समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर लगातार काम कर रही है। समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वी उत्तरप्रदेश को लखनऊ से जोड़ेगा। इससे एक कोने में हो रहे विकास का असर दूसरे कोने तक पहुंचेगा और पूरा प्रदेश तरक्की करेगा।

  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे समाजवादी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना है।
  • देश की सबसे लंबी ग्रीन फील्ड परियोजना है आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे।
  • इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण के बाद आगरा और लखनऊ के बीच की दूरी सात घंटे के बजाय मात्र तीन से चार घंटे में पूरी की जा सकेगी।
  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर माल ढुलाई केंद्र, स्कूल और आईटीआई स्थापित किए जाएंगेी।
  • 302 किलोमीटर लंबा है आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे।
  • 6 लेन का यह एक्सप्रेस-वे 8 लेन तक बढ़ाया जा सकता है।
  • इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर 15,000 करोड़ रुपये की लागत आई है।
  • एक्सप्रेस-वे के किनारे पर 4 डेवलपमेंट सेंटर खुलेंगे।
  • एक्सप्रेस-वे के आसपास 2 कृषि मण्डियां विकसित की जाएंग।
  • एक्सप्रेस-वे के किनारे पर 2 टाउनशिप विकसित होंगी।