Navigate Manifesto
डाउनलोड घोषणापत्र

शहरी क्षेत्रों का विकास

  • लखनऊ की भांति नोएडा, गाजियाबाद, कानपुर, मेरठ, आगरा और वाराणसी में भी मेट्रो की सेवायें शुरू की जायेंगी।

  • राज्य सरकार द्वारा ग्रीन फील्ड टाउनशिप का विकास कुछ चयनित स्थानों पर किया जायेगा जहाँ आधुनिक और उच्चस्तरीय सुविधायें सुनियोजित रूप से विकसित कर उपलब्ध करायी जायेंगी। प्रदेश के प्रमुख शहरों को हवाई यात्रा से जोड़ा जायेगा।

  • पुराने लखनऊ के एतिहासिक धरोहर वाले क्षेत्रों का राज्य सरकार द्वारा सुनियोजित रूप से विकसित किया गया है। इसी प्रकार प्रदेश के अन्य एतिहासिक धरोहर वाले क्षेत्रों को संरक्षित कर विकसित किया जायेगा।

  • सभी बड़े शहरों में ट्रैफिक की समस्या का स्थायी समाधान किया जायेगा।

  • शहरी क्षेत्र के गरीबों और निम्न मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए सरकार उच्च गुणवत्ता और नये तकनीक से बने ‘‘वैल्यू फॉर मनी’’ मकान उपलब्ध करायेगी जिनमें कम-से-कम दो कमरे हों।

  • शहरों में कूड़ा प्रबन्धन/सीवेज ट्रीटमेण्ट की व्यवस्था की जायेगी।

  • शहरों में सरकार द्वारा 24/7 पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी।

  • इलाहाबाद, वाराणसी, बरेली, हिंडन, मुरादाबाद और आगरा में रिवर फ्रंट परियोजनाएँ। उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में जनेश्वर मिश्र पार्क के तर्ज पर उपवन पार्क बनाये जायेंगे। नई विरासत संरक्षण नीति बनायी जायेगी।

  • आगरा में मुगल संग्रहालय एवं थीम पार्क बनाया जायेगा। लखनऊ में छतर मंजिल संग्रहालय बनाया जायेगा।