Navigate Manifesto
डाउनलोड घोषणापत्र

अल्पसंख्यक वर्ग के लिए योजनाएं

  • अल्पसंख्यकों की सुरक्षा तथा धार्मिक स्वतंत्रता सुनिश्चित की जायेगी।

  • सभी लाभपरक योजनाओं में अल्पसंख्यकों को जनसंख्या के अनुपात में हिस्सेदारी सुनिश्चित की जायेगी।

  • अल्पसंख्यक वर्ग के युवाओं हेतु आगामी पाँच वर्षों में कम से कम एक लाख नये छोटे (सूक्ष्य/लघु/मध्यम) व्यवसायों का सृजन किया जायेगा।

  • अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं को नौकरियाँ एवं रोजगार उपलब्ध कराने के लिए उन्हें विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा और कैरियर काउन्सलिंग की योजना लागू की जायेगी।

  • अल्पसंख्यकों की शिक्षा को बढ़ावा दिया जायेगा तथा उनके द्वारा संचालित विद्यालयों तथा शैक्षिक संस्थानों को सुसज्जित करने हेतु सहायता दी जायेगी।

  • अल्पसंख्यक वित्तीय विकास निगम को सुदृढ़ और अधिक प्रभावशाली बनाया जायेगा।

  • अल्पसंख्यकों के पास बेमिसाल, पारम्परिक हुनर मौजूद हैं। उनको बढावा एवं विकसित करेन हेतु चिन्हित क्षेत्रों में कौशल प्रशिक्षण केंद्र (एक्सीलेंस सेंटर) खोले जाएंगे।

  • पढ़े बेटियां बढ़ें बेटियां योजना अल्पसंख्यकों के लिए पुनः जारी किया जायेगा।

  • गरीब अल्पसंख्यकों को ई-रिक्शा आवंटित करने से उनकी बेरोजगारी दूर होगी। अतः उनके लिए पृथक से योजना में समानुपातिक आरक्षण दिया जायेगा।

  • गरीब अल्पसंख्यकों के लिये आसरा आवास योजना के अंतर्गत दो कमरों वाला आवास तैयार कर आवंटित किये जायेंगे।

  • मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय में गांधी एवं जौहर के नाम से एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर का संग्रहालय का निर्माण कराया जायेगा।

  • शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये अल्पसंख्यकों द्वारा स्थापित शिक्षण संस्थाओं को सुदृढ़ किया जायेगा।

  • अल्पसंख्यक वर्ग के फ्रीडम फाइटर्स की कुरबानियों को याद रखने तथा दूसरों को प्रोत्साहित करने के लिये स्मारकों की स्थापना तथा स्थापित स्मारकों का सौन्दर्यीकरण किया जायेगा।

  • वक्फ संपत्ति पर सरकारी दफ्तर अथवा किसी अन्य प्रकार से कब्जा है, तो उसे तुरंत कब्जामुक्त कर दिया जाये या स्थानीय किराया दर के अनुसार किराया निर्धारित करते हुए प्रत्येक माह उसकी अदायगी सुनिश्चित कराई जाने संबंधी कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

  • सुन्नी-शिया वक्फ बोर्ड को स्वावलम्बी बनाया जायेगा।

  • उर्दू अध्यापकों तथा अनुवादकों की नियुक्तियां काफी मात्रा में आगे जारी रहेंगी।

  • हाजियों की कठिनाईयों को देखते हुए वाराणसी में हज हाउस का निर्माण कराया जायेगा।