महिला सशक्तिकरण

समाजवादी पार्टी ने महिलाओं के सशक्तिकरण को हमेशा अत्यंत महत्व दिया है। इसी क्रम में समाजवादी सरकार ने महिलाओं की शिक्षा, आर्थिक स्वावलंबन, स्वास्थ्य और समग्र कल्याण के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। रानी लक्ष्मी बाई महिला सशक्तिकरण कोष की स्थापना कर महिलाओं को आर्थिक मदद दी जा रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना चुकी वूमेन पॉवर लाइन 1090 की मदद से 558000 से ज्यादा मामलों में महिलाओं व युवतियों को मदद पहुंचाई जा चुकी है। समाजवादी पार्टी एक ऐसे समाजवादी समाज के निर्माण में विश्वास करती है, जहां समानता के सिद्धांत पर कार्य किए जाते हों।

महिलाएं सशक्त हों और उनका सर्वांगीण विकास हो इस उद्देश्य से समाजवादी पार्टी की सरकार ने कई स्वास्थ्य योजनाएं शुरू की हैं। किशोरी शक्ति योजना के तहत महिलाओं व बच्चियों को उचित व्यावसायिक प्रशिक्षण के साथ उन्हें पौष्टिक भोजन मुहैया कराया जा रहा है।

समान कार्य के लिए समान वेतन पाने के साथ ही महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ वर्षों में महिलाओं की स्थिति में व्यापक बदलाव आए हैं। ऐसा समाजवादी सरकार द्वारा चलाई जा रही उन तमाम योजनाओं के चलते संभव हुआ है, जो खासकर महिला सशक्तिकरण पर केंद्रित हैं। उदाहरण के तौर पर कन्या विद्या धन योजना के जरिये कन्याओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इतना ही नहीं नई आईटी सिटी में 50 प्रतिशत नौकरी भी महिलाओं के लिए आरक्षित होगी।

समाजवादी पार्टी गैर-भेदभाव के सिद्धांत पर काम करती है और ऐसे हर काम का विरोध करती है, जो महिलाओं को हीन महसूस करता हो।